atmanirbhar up rojgar abhiyan 2020

Atmanirbhar UP Rojgar Abhiyan 2021 । कैसे करें आवेदन ?

आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान 2020। कैसे करें आवेदन ? | AtmaNirbhar UP Yojana 2020 2012 Apply 

Atmanirbhar UP Rojgar Abhiyan प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में प्रवासी श्रमिकों को रोजगार प्रदान करने के लिए 125-दिवसीय अभियान शुरू किया है। ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान के एक भाग के रूप में, अभियान उन लोगों के लिए शुरू किया जा रहा है जो कोरोनोवायरस महामारी के कारण प्रभावित थे। इस योजना को प्रधानमंत्री जी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के साथ वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के माधयम से सुरुवात की।

UP Rojgar Abhiyaan 

पीएम मोदी ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश रोज़गार अभियान की शुरुआत की UP Rojgar Abhiyan, ग़रीब कल्याण रोज़गार अभियान का हिस्सा है जिसे पीएम ने 20 जून को भारत के छह राज्यों में शुरू किया था।

इस योजना के तहत 1.25 करोड़ लोगों को रोजगार मिलेगा। सरकार द्वारा व्यवस्थित श्रमिक विशेष गाड़ियों में 30 लाख मजदुर वापिस लौटे जिन्हे रोजगार देना सरकार की प्राथमिकता है और इस ओर पहल की जा रही है।

PM Modi Yojana List

आत्मनिर्भर यूपी रोजगार अभियान के उद्देश्य

देश में कोरोना वायरस संकट के वजह से हुए लोखड़ौन के कारन कई मजदूर अपने घर को लौट गए है। अब सरकार के पास चुनौती उन्हें उनके घर पर रोजगार मुहैया करवाने की है। आत्मनिर्भर यूपी रोजगार योजना के तहत सरकार घर वापिस आये मज़दूरों को अपने घर में ही रोजगार मुहैया करवाने की पहल करेगी।

Atmanirbhar UP Rojgar Abhiyan 2020 के अंतर्गत सरकार उत्तर प्रदेश के 1 करोड़ लोगो को रोजगार उपलब्ध करवाने का लक्ष्य है। इसमें अन्य राज्यों से घर लौटे प्रवासी श्रमिक और कामगार के साथ साथ स्थानीय लोग लाभान्वित होंगे।

UP rojgar yojana

Atmanirbhar UP Rojgar Abhiyan की मुख्या बातें।

प्रधानमंत्री मोदी ने यह भी कहा कि यूपी भारत को ‘आत्मनिर्भरता’ के रास्ते पर ले जाने के अभियान में आगे है। उन्होंने कहा, “ग्रामीण विकास से जुड़ी योजनाओं के तहत लगभग 60 लाख लोगों को एमएसएमई में रोजगार दिया जा रहा है। अन्य राज्यों को भी ‘आत्म्हार निर्भय उत्तर प्रदेश रोज़गार अभियान’ से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा और इससे प्रेरित होंगे।”

प्रधानमंत्री जी के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंस में शुरू की गयी इस योजना के दौरान कहा कि अभियान के तहत 25 तरह के कार्यों को चिह्नित किया गया है, जिनमें प्रवासियों को समायोजित किया जाएगा। इसके लिए 1 दर्जन विभागों को जिम्मेदारी दी गई है।

करीब ३० लाख मज़दूरों की स्किल मैपिंग की गया है जिससे इन्हे रोजगार देने में आसानी होगी

इस योजना के तहत, विभिन्न प्रकार के कार्य यह सुनिश्चित करेंगे कि प्रत्येक प्रवासी श्रमिक अपने कौशल के अनुसार आने वाले 125 दिनों में रोजगार का अवसर प्राप्त कर सके।

ये 25 तरह के कार्य ग्रामीण मंत्रालय के अनुसार गरीबों के लिए ग्रामीण आवास, वृक्षारोपण, जल जीवन मिशन के माध्यम से पीने के पानी और पंचायत भवन, सामुदायिक शौचालय, ग्रामीण मंडियों, ग्रामीण सड़कों, मवेशियों के शेड और आंगनवाड़ी भवन के निर्माण से संबंधित हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *